उसका प्यार


पेड़ों के झुरमुटे में एक छोटा सा घरौंदा हो
जिससे हो प्यार वो साथ हो
कभी धूप की तपिश हो तो कभी बारिश
लेकिन वो साथ रहे तो ना हो कोई भी ख़लिश
घर कभी मिट्टी का होता है,
कभी लकड़ी से बनता है
या ईंट पत्थरों से सजता है
वो हो साथ लेकिन
तभी घर, घर रहता है