वो चट्टान


बड़े से समंदर में वो एक चट्टान
समंदर में बसी उसकी जान
लहरों की लेकिन अपनी शान
मारें उसे ठोकरें बार बार और कर दें हलाकान
चट्टान फ़िर भी सब सहती है
समंदर से प्यार जो करती है
मिट जाएगी, टूट जाएगी
प्यार करना नहीं छोड़ पाएगी
क्योंकि बड़े से समंदर में वो एक चट्टान
समंदर में बसी उसकी जान