वादा करके निभाना भूल जाते हैं; 
लगा कर आग फिर वो बुझाना भूल जाते हैं; 
ऐसी आदत हो गयी है अब तो सनम की; 
रुलाते तो हैं मगर मनाना भूल जाते हैं।

Download Hindi Shayari with Images App: https://goo.gl/2mYSda