तू हो ज़रा इश्क़ के क़ाबिल , तो दिवाली है ।

तेरी हिफ़ाज़त में हो मेरा दिल, तो दिवाली है ।

तुझसे हो रोशन मेरी महफ़िल , तो दिवाली है ।

सितमगार का जाना हो मुश्किल , तो दिवाली है।

ज़रा सी मोहब्बत हो शामिल , तो दिवाली है ।

तेरे क़रीब हो मेरी मंज़िल , तो दिवाली है ।

तब तक मेरी तेरी बस तख़य्यूल दिवाली है । #kaash

तख़य्यूल :- Imagination

Like what you read? Give Karuna Singh a round of applause.

From a quick cheer to a standing ovation, clap to show how much you enjoyed this story.