‘हिन्दी पखवाड़ा’ या ‘पिछवाड़ा’?
rupesh kashyap
152

लेख तो बढ़िया है और सामयिक भी पर एक बात पर मैं अपनी असहमति जताना चाहता हूँ.. वह है हिन्दी में इंग्लिश के शब्दों के प्रयोग के संदर्भ में जिसे नयी वाली हिन्दी भी कहा जा रहा है। मेरा विचार है कि जब हम किसी दूसरी भाषा से उसके शब्द अडॉप्ट (adop) करते हैं तो वह शब्द आना चाहिए वो लिपि नहीं। बोलचाल में प्रयोग होनेवाली शब्दावली अपनाना और बात है लिपि बदल कर यूज़ करना और यह पहले भी होता आया है।