Hindi Love Tukbandi

प्रेम-पथ पर गुलाब पड़ा है,
खुली आंख में ख्वाब पड़ा है.

चांद सा वो मुखड़ा दिखलाए,
दिल अपना बेताब पड़ा है.

Read more…http://rrnehra.blogspot.in/2015/09/sweet-hindi-poem-by-raju-rajendra-nehra.html