Hindi Poem: आओ कभी हवेली पर…

#MyCrazyTukbandi

धरकर जान हथेली पर,
आओ कभी हवेली पर।

प्रेत बसे यहां काले काले,
लम्बे लम्बे बालों वाले।

डरने की कोई बात नहीं,
दिन है अभी तो, रात नहीं। …continue reading

Read More

http://rrnehra.blogspot.in/2017/05/my-crazy-kavita-aao-kabhi-haveli-par-by-rajendra-nehra.html