सब ही है भगवान!

सब ही है भगवान। वही है भगवान।

फूल मैं कांटे है भगवान,
फूल की खुशबू है भगवान,
फूल की सुन्दरता है भगवान।

राह की आसानी है भगवान,
राह की मुश्किल है भगवान,
राह मै अँधेरा और रौशनी, भी है भगवान ..
सब ही है भगवान।।

दिखे तो, मूह से निकले हे राम,
छुप जाये तो पूछे, क्यों मैं हैरान!

परेशान हो तो पेड़ की परछाई भी नई दिखती ,
खुश हो तो बारिश की बूँद भी न्यारी लगती।

आकाश मैं तारे जैसे बिखरते हुए दीखते ,
मन की संवेदनाएं वैसे ही तैरती,
कभी उभरती तो कभी डूब जाती ..
इसको इसलिए बुरा मत समझना , समझदारी से इसमें न उलझना।

अपने आप को इस विशालकाय जग का हिस्सा समझो ,
कभी तुम्हे न मिले, तो बाजू वाले की ख़ुशी को, उप्परवाले की रज्ज़ामंद जान लो।

कभी मुस्कुराकर इस दुनिया को सिर उठा के देखो,
कुदरत तो वैसी ही है, अपने आप को इससे अपना के देखो!

इस युग मैं, भले हो वाद, विवाद और आतंकवाद,
भले हो भय, गुस्सा और लालच का वास,
जानना तुम, रखो विश्वास ..
उससे निकलने की शक्ति दी है तुम्हे,
इसीलिए हो तुम ख़ास!

कभी आजमा के देखो तुम्हारे भीतर का प्यार,
बांटो और देखो, कैसे मिटने चालु होगा ये हाहाकार!

प्यार ही तुम हो,
प्यार ही तुम्हारी दिशा है,
प्यार ही तुम्हारा उत्तर है,
प्यार ही तुम्हारा भवितव्य है।

तो जीना ऐसे शान से, कभी मुडना पड़े तोह आंसू आये प्यार के ..!

इश्वर, अल्लाह, प्रभु येशु , गुरु नानक को प्रणाम,

सब ही है भगवान..
सब ही है भगवान!

One clap, two clap, three clap, forty?

By clapping more or less, you can signal to us which stories really stand out.